English
सभी ब्लॉग पढ़ें
शिक्षा शोषण का नहीं सेवा का माध्यम बने: किरण माहेश्वरी

पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री एवं विधायक किरण माहेश्वरी ने आज निजी विश्वविद्यालयों पर विधानसभा में आयोजित चर्चा में भाग लेते हुए कहा कि राजकीय एवं निजी क्षेत्र के, सभी विश्वविद्यालयों के लिए एक नियामक बोर्ड होना चाहिए। शिक्षा शोषण का माध्यम नहीं बने, सेवा का अनुष्ठान बनें।
किरण ने कहा कि निजी क्षेत्र की शिक्षा संस्थाओं में शैक्षणिक अराजकता का वातावरण नहीं होना चाहिए। विश्वविद्यालयों में प्रवेश लेने वाले सभी विद्यार्थियों की सूचना शिक्षादृष्टि पोर्टल पर ऑनलाइन संधारित होनी चाहिए। प्रवेश की समय सीमा का सख्ती से पालन होना चाहिए। शोध प्रबंधन में मार्गदर्शक उसी विश्वविद्यालय का संकाय सदस्य होना चाहिए।
विश्वविद्यालयों के सभी संकाय सदस्यों की सूचनाएं ऑनलाईन साझी की जानी चाहिए। सभी विश्वविद्यालयों का निगमन एक उच्च शिक्षा का विनियमन अधिनियम बनाकर उसके अंदर किया जाना चाहिए। इससे प्रत्येक विश्वविद्यालय के लिए पृथक पृथक अघिनियम की आवश्यकता नहीं रहेगी।

0 Comment